top of page

किस्मत नायडू एक हिंदी भाषा के कवि होने के साथ-साथ, दूसरी भाषाओं में भी लिखना पसंद करते हैं। इनकी अधिकतर रचनाएँ हिंदी भाषा में ही हैं। इन्होनें कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी से मास कम्युनिकेशन की हैं। इनका मानना हैं की हर इंसान के अंदर एक ऐसी प्रतिभा होती है जिसको स्वयं खोजना होता हैं और इन्होने अपने अंदर लेखन की प्रतिभा को खोजा जब ये यूनिवर्सिटी में थे। इन्होनें शुरू में स्टोरी और स्क्रिप्ट लिखनी शुरू की और इसके बाद लिखते-लिखते शायरी और कविताएँ लिखने लग गए और आज इनको 5 साल हो गए। इन्होनें जितना भी लिखा हैं सब अपनी जिंदगी से जुड़े किस्सों, अनुभव और आस-पास घटित होने वाली चीज़ों से सीख कर लिखा हैं। आज आप सब के सामने एक किताब के जरिए इन्होनें प्यार, नफरत, जिंदगी के उतार चढ़ाव और सामाजिक बुराई के खिलाफ़ भी आवाज उठाई हैं।

6 SAAL

₹199.00Price

    Related Products